हरियाणा

कुरुक्षेत्र : गन्ने के दाम बढ़ाने की मांग को लेकर किसान लंबे समय से आंदोलन कर रहे हैं I इसके आधार पर किसानों ने चीनी मिलों के मुख्य गेट पर ताला लगा दिया। इसी सिलसिले में आज कुरुक्षेत्र में सरकार और किसान नेताओं के बीच बैठक हुई I बैठक के बाद भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी का एक बयान सामने आया, जिसमें वे किसानों के लिए आयोजित बैठक से संतुष्ट नहीं दिखे और 25 जनवरी से 25 जनवरी तक होने वाले किसान प्रदर्शन की तैयारियों के बारे में बताया. 29 I किसान नेता ने चेतावनी दी है कि वह गृह मंत्री अमित शाह की 29 जनवरी को गोहाना में होने वाली रैली का विरोध करेंगे I

किसानों के नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि किसानों का धरना 25 से 29 तक रहेगा। तिथि के अनुसार उन्होंने कहा कि किस दिन क्या करना है।

  • 25 जनवरी को गन्ना किसान ट्रैक्टर व मोटरसाइकिल पर उग्र मार्च निकालेंगे।
  • 26 जनवरी को किसान गन्ने की फसल जलाएंगे।
  • 27 जनवरी को गन्ना उत्पादक चीनी मिलों के सामने सड़क जाम करेंगे।
  • चढूनी ने यह भी कहा कि 29 जनवरी को अमित शाह की गोहाना रैली में बड़ी संख्या में किसान पहुंचे और जब अमित शाह ने बोलना शुरू किया तो किसानों ने अर्धनग्न प्रदर्शन किया I

वहीं किसान नेता चढूनी ने आज मुख्यमंत्री से मुलाकात करने वाले किसानों को किसानों का दुश्मन करार दिया I इसके साथ ही आपको यह भी बता दें कि गुरनाम सिंह चढूनी ने अमित शाह की हरियाणा में होने वाली रैली पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि किसानों ने पहले भी कई संघर्षों का सामना किया है और हम मरने से नहीं डरते I

बता दें कि आज गन्ना मूल्य मुद्दे पर कृषि मंत्री जेपी दलाल, किसान प्रतिनिधि और मुख्यमंत्री के साथ बैठक हुई I जिसमें मुख्यमंत्री ने किसान नेताओं को मिलों को बंद न करने और गन्ने की पेराई जारी रखने के लिए मनाने का प्रयास किया। क्योंकि मिल को बंद करना समस्या का समाधान नहीं है। जेपी दलाल ने कहा कि मुख्यमंत्री पहले ही गन्ना मूल्य समिति बना चुके हैं, इसलिए किसान संगठनों को उस समिति की रिपोर्ट का इंतजार करना पड़ रहा है I

By विशाल यादव

मीडिया के क्षेत्र में 3 साल का अनुभव है। 2020 में छत्रपति शाहू जी महाराज फेयर यूनिवर्सिटी से पत्रकारिता की डिग्री प्राप्त की। इसके बाद newschecker.in से करियर की शुरुआत करते हुए तथ्यों को लेकर वैज्ञानिक राइटर के रूप में काम किया, जहां पर 11 महीने काम करने का अनुभव मिला। इसके बाद कृष्ण विश्वविद्यालय में सामग्री राइटर के रूप में 6 महीने काम किया। इसके बाद 6 महीने का फ्रीलांस सामग्री राइट के रूप में काम करने का अनुभव प्राप्त किया। इसके बाद हिंदी समाचार बाइट ऐप को 3 महीने तक सेवा प्रदान की जाती है। अब मैं योजना अलर्ट वेबसाइट पर काम कर रहा हूं। मेरा मकसद शुद्ध, स्पष्ट और सही सामग्री लोगों तक पहुंचाना है।