नोएडा मेट्रो रिपब्लिक डे ऑफर

फ्री मेट्रो कार्ड ऑफर: दिल्ली मेट्रो में सफर करने वाले यात्रियों के लिए हमारे पास खुशखबरी है। इस गणतंत्र दिवस के मौके पर आप फ्री में मेट्रो कार्ड बनवा सकते हैं। आम दिनों में मेट्रो कार्ड बनवाने के लिए आपको 100 रुपए खर्च करने पड़ते हैं।

कार्ड मिलने में कितना समय लगेगा?

गणतंत्र दिवस के मौके पर नोएडा मेट्रो (एनएमआरसी) ने यात्रियों को मुफ्त कार्ड देने का फैसला किया है। यह मुफ्त मेट्रो कार्ड योजना (नोएडा मेट्रो द्वारा गणतंत्र दिवस की पेशकश) 26 जनवरी से शुरू होगी और अगले 10 दिनों तक चलेगी। इस मेट्रो कार्ड को एसबीआई ने डिजाइन किया है। अगर आप भी फ्री में मेट्रो कार्ड बनवाना चाहते हैं तो यह आपके लिए खुशखबरी है। इस योजना के तहत आप 26 जनवरी से 4 फरवरी तक फ्री में मेट्रो कार्ड बनवा सकते हैं।

भीड़ से बचने के लिए ये फैसले लिए गए

  • टिकट काउंटर पर भीड़ कम करने के लिए नोएडा मेट्रो ने एक्वा लाइन पर वेंडिंग मशीन लगाने का फैसला किया है।
  • भुगतान के लिए आपको यूपीआई का उपयोग करना होगा।
  • नकद लेन-देन नहीं हो पाएगा।

इतना पैसा कार्ड पर होना चाहिए

अगर आप मेट्रो से सफर करते हैं तो यह खबर भी आपके लिए बेहद जरूरी है। मेट्रो कार्ड पर कम से कम 50 रुपये देने होते हैं। अगर आपके कार्ड का बैलेंस 50 रुपए से कम है तो आप मेट्रो में एंट्री नहीं कर पाएंगे। पहले मिनिमम बैलेंस 10 रुपये था।

गणतंत्र दिवस पर बढ़ा नियंत्रण

गणतंत्र दिवस के लिए सुरक्षा उपायों को देखते हुए चेकिंग बढ़ा दी गई है, जिससे मेट्रो में और भी ज्यादा समय लग सकता है। यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए डीएमआरसी ने ट्वीट किया, ”यात्री कृपया ध्यान दें कि आगामी गणतंत्र दिवस के चलते मेट्रो परिसरों में सुरक्षा गतिविधियां बढ़ा दी गई हैं, जिससे सुरक्षा जांच आदि में लंबा समय लग सकता है. कृपया अपनी यात्रा के लिए कुछ समय दें। सहयोग के लिए धन्यवाद।

By विशाल यादव

मीडिया के क्षेत्र में 3 साल का अनुभव है। 2020 में छत्रपति शाहू जी महाराज फेयर यूनिवर्सिटी से पत्रकारिता की डिग्री प्राप्त की। इसके बाद newschecker.in से करियर की शुरुआत करते हुए तथ्यों को लेकर वैज्ञानिक राइटर के रूप में काम किया, जहां पर 11 महीने काम करने का अनुभव मिला। इसके बाद कृष्ण विश्वविद्यालय में सामग्री राइटर के रूप में 6 महीने काम किया। इसके बाद 6 महीने का फ्रीलांस सामग्री राइट के रूप में काम करने का अनुभव प्राप्त किया। इसके बाद हिंदी समाचार बाइट ऐप को 3 महीने तक सेवा प्रदान की जाती है। अब मैं योजना अलर्ट वेबसाइट पर काम कर रहा हूं। मेरा मकसद शुद्ध, स्पष्ट और सही सामग्री लोगों तक पहुंचाना है।