Shani Vakri

Shani Vakri 2023 Effects: दंडाधिकारी शनि देव 17 जून को वक्री हो चुके हैं. वह इस अवस्था में 4 नवंबर तक रहेंगे. उनकी इस उल्टी चाल का सभी 12 राशियों पर कुछ न कुछ असर पड़ेगा. कुछ राशियों पर शुभ तो कुछ में अशुभ असर होगा. आज ऐसी 3 राशियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनको इस अवधि में सावधानी बरतनी होगी. वक्री शनि उन्हें मानसिक तनाव देने वाले हैं. ऐसे में जिन राशि के लोगों की साढ़े साती चल रही है, उनको शनि का अनुशासन मानने में ही भलाई है.

मकर राशि

मकर राशि वालों के लिए शनि देव लॉर्ड हैं, इस राशि के विद्यार्थियों के लिए समय तो ठीक है किंतु बहुत अच्छे रिजल्ट नहीं मिलेंगे फिर भी पढ़ाई जारी रखते हुए ज्ञान प्राप्त करते रहें. कभी कभी ऐसा लग सकता है कि ठीक ठाक चलती हुई गाड़ी अचानक रुकने के बाद रिवर्स गियर में हो गयी है लेकिन इस बात को लेकर परेशान न हों, धैर्य रखें और सब कुछ ठीक ही होगा.

कुंभ राशि

कुंभ राशि के युवा इस बीच कुछ परेशान और उलझन में रहेंगे, क्योंकि वक्री शनि उन्हें मानसिक तनाव देने वाले हैं. इस राशि के लोगों की साढ़े साती चल रही है, ऐसे में शनि का अनुशासन मानने में ही भलाई है. चार नवंबर तक आपको सावधानी के साथ कदम बढ़ाने होंगे. इस राशि के लोगों में किसी भी प्रकार से अहंकार का भाव नहीं आना चाहिए, विनम्रता के साथ और बुद्धि का प्रयोग करते हुए अपने करियर में झंडे गाड़ने होंगे.

मीन लग्न

मीन लग्न और राशि वालों को अपने स्वभाव में एक विशेष बात का ध्यान रखना होगा कि शनि वक्री होने के से वाणी में कठोरता आ सकती है, इसलिए किसी से भी बात करें विनम्रता और मिठास के साथ बात करें, अन्यथा आपके द्वारा सामान्य बात को कठोरता से कहे जाने के कारण संबंधों में खिंचाव आ सकता है. वार्ता के दौरान अहंकार का बीज पड़ गया और प्रेम की मात्रा कम रही तो निश्चित रूप से यह अहंकार नुकसान करा सकता है. जो लोग सरकारी नौकरी के लिए तैयारी कर रहे हैं, उनको इस बात का दंभ नहीं होना चाहिए कि हमने जो पढ़ लिया है वह सब हमको याद है. लिख लिख कर याद करें और दोहराते भी रहें. शनिदेव चाहते हैं आप निरंतर अभ्यास करते रहें तभी आप को विजय श्री का आशीर्वाद प्राप्त होगा.

By विशाल यादव

मीडिया के क्षेत्र में 3 साल का अनुभव है। 2020 में छत्रपति शाहू जी महाराज फेयर यूनिवर्सिटी से पत्रकारिता की डिग्री प्राप्त की। इसके बाद newschecker.in से करियर की शुरुआत करते हुए तथ्यों को लेकर वैज्ञानिक राइटर के रूप में काम किया, जहां पर 11 महीने काम करने का अनुभव मिला। इसके बाद कृष्ण विश्वविद्यालय में सामग्री राइटर के रूप में 6 महीने काम किया। इसके बाद 6 महीने का फ्रीलांस सामग्री राइट के रूप में काम करने का अनुभव प्राप्त किया। इसके बाद हिंदी समाचार बाइट ऐप को 3 महीने तक सेवा प्रदान की जाती है। अब मैं योजना अलर्ट वेबसाइट पर काम कर रहा हूं। मेरा मकसद शुद्ध, स्पष्ट और सही सामग्री लोगों तक पहुंचाना है।